husn husn qaatil lyrics – Srishti Bhandari

husn husn qaatil lyrics

husn husn qaatil lyrics in hindi sung by Srishti Bhandari. husn husn qaatil song lyrics written by Alaukik Rahi.

husn husn qaatil lyrics hindi(हुस्न हुस्न मेरा क़ातिल)

चाँदनी उतार आई महफ़िल में आज
मेरा ही जादू चलेगा आज

आज की है रात नशीली
थोड़ी सी मैंने भी पी ली
तन बदन में आग लगी है
हाँ जशन की बात चली है

मूड में तुम भी हो
मूड में हम भी हैं
खामखां मिसयूज़ ना कर लेना
आहा..

हुस्न हुस्न मेरा क़ातिल क़ातिल
मुफ़्त मुफ़्त में तू चख लेना
लुक्स लुक्स तारीफ-ए-क़ाबिल
अंग अंग संगमरमर सा

आज की है रात नशीली
थोड़ी सी मैंने भी पी ली

सारे ज़माने में मेरा ही जलवा है
आजा ना तू दोस्त तुम भी सोनिये
सबके डिमॅंड में मैं देसी छोड़ी हूँ
बाहों में भर अभी बलिए

कैसी हवा मेरी तरफ चली है
मेरी पतंग की डोर कटी है
लूट ले मुझको दूनद ले मुझको
आजा ना कहीं फिर देर ना हो जाए
आहा..

हुस्न हुस्न मेरा क़ातिल क़ातिल
मुफ़्त मुफ़्त में तू चख लेना
लुक्स लुक्स तारीफ-ए-काबिल
अंग अंग संगमरमर सा

आज की है रात नशीली
थोड़ी सी मैने भी पी ली
तो बदन में आग लगी है
हन जशन की बात चली है

मूड में तुम भी हो
मूड में हम भी हैं
खंखा मिसयूज़ ना कर लेना
आहा..

हुस्न हुस्न मेरा क़ातिल क़ातिल
मुफ़्त मुफ़्त में तू चख लेना
लुक्स लुक्स तारीफ-ए-काबिल
अंग अंग संगमरमर सा

हुस्न हुस्न मेरा क़ातिल क़ातिल
मुफ़्त मुफ़्त में तू चख लेना
लुक्स लुक्स तारीफ-ए-काबिल
अंग अंग संगमरमर सा

husn husn qaatil lyrics english

chaandanee utaar aaee mahafil mein aaj
mera hee jaadoo aaj
aaj kee raat nasheelee hai
thodee see mainne bhee pee lee
tan badan mein aag lagee hai
haan jashan kee baat chalee hai

mood mein tum bhee ho
mood mein ham bhee hain
khaamakhaan misuz na kar lena
aaha ..

husn husn mera qateel qateel
aazaad mein
luks luks taareeph-e-qaabil
ang ang sangamaramar sa

aaj kee raat nasheelee hai
thodee see mainne bhee pee lee

sabhee zaane mein mera hee hissa hai
aaja na too dost tum bhee soniye
sabake dimaand mein main desee chhodee hoon
baahon mein abhee tak belee

kaisee hava meree taraph gaee hai
meree patang kee dor katee hai
loot le mujhako doonad le mujhako
aaja na kaheen phir der na ho jae
aaha ..

husn husn mera qateel qateel
aazaad mein
luks luks taareeph-e-kaabil
ang ang sangamaramar sa

aaj kee raat nasheelee hai
thodee see main bhee pee lee
to badan mein aag lagee hai
han jashan kee baat chalee hai

mood mein tum bhee ho
mood mein ham bhee hain
khanak misuz na kar lena
aaha ..

husn husn mera qateel qateel
aazaad mein
luks luks taareeph-e-kaabil
ang ang sangamaramar sa

husn husn mera qateel qateel
aazaad mein
luks luks taareeph-e-kaabil
ang ang sangamaramar sa

Also Read: Rona Likha Tha Lyrics – Ramji Gulati