Mann Mein Aman lyrics -मन में अमन- salim sulaiman

Mann Mein Aman lyrics

Mann Mein Aman lyrics in hindi sung by Salim Merchant. Mann Mein Aman song lyrics written by IP Singh and composed by Salim-Sulaiman, Ricky Kej.

Mann Mein Aman lyrics hindi(मन में अमन )

चाहत है सुकून की तो मन में अमन तू रखना

राहत है दूर भी तो मन में अमन तू रखना

कस्तूरी जो महके महके पर वह ना जाने

दुनिया में जो ढूंढे है उसके अंदर ही ठिकाने

बदलाव जो चाहे तू वह खुद ही तू बनाना

मन में अमन तू रखना

हर एक को जो रास्ता है तुझी से वाबस्ता है

जाने क्यों मंजिलों को पाने को तू तरसता है

चल तू दिल तू अपने ख्वाबों के रंग में

कल को बदल तू आज को अपने ले संग में

कस्तूरी जो महके मृग अबे के पर वह ना जाने

बदलाव जो चाहे तू वह खुद ही तू बनाना मन में अमन तू रखना

चाहत है सुकून की तो मन में अमन तू रखना राहत है दूर भी तो मन में अमन तू रखना

Mann Mein Aman lyrics english

Chahat hai sukoon ki toh
Mann mein aman tu rakhna
Rahat hain door bhi toh
Mann mein aman tu rakhna

Kastoori jo mehke
Mrigh behke
Par woh na jaane

Duniya mein jo dhoondhe
Hain uske
Andar hi thikaane

Badlaav jo chahe tu,
Woh khud hi tu ban’na
Mann me aman tu rakhna

Har ik jo rasta hai
Tujjh se vaabasta hai
Jaane kyu manzilon ko
Paane ko tu tarasta hai

Chal tu
Dhal tu
Apne khwaabon ke rang mein

Kal ko
Badal tu
Aaj ko apne le sang mein

Kastoori jo mehke
Mrigh behke
Par woh na jaane

Duniya mein jo dhoondhe
Hain uske
Andar hi thikaane

Badlaav jo chahe tu,
Woh khud hi tu ban’na
Mann me aman tu rakhna

Chahat hai sukoon ki toh
Mann mein aman tu rakhna
Rahat hain door bhi toh
Mann mein aman tu rakhna

Also Read: Taaron Ke Shehar Lyrics – तारों के शहर – Neha Kakkar, Jubin Nautiyal