shikayat Lyrics -शिकायत – Ved Sharma

shikayat Lyrics

shikayat Lyrics in Hindi sung by Ved Sharma. shikayat song Lyrics written by Haarsh Limbachiyaa.

Shikayat Lyrics in Hindi(शिकायत)

बस खुदा से है इतनी शिकायत
क्यूं तू मेरा हुआ ही नहीं
कुछ लम्हों की मांगी थी मोहलत
क्यों तू मेरा हुआ ही नहीं
हाँ मैं माँगूंग इजाजत, हाँ करके बग़ावत
तू मेरा हुआ ही नहीं
मैंने मांगी थी तुझसे वह सांसें
जिनमें बस्ती हैं सांसें मेरी

बस खुदा से है इतनी शिकायत
क्यूँ तू मेरा हुआ ही नहीं

मुझे अगर तेरी याद आये
कैसे किसे हम बताएं हाँ
जी कर भी कैसे जियूं मैं
हक़ में नहीं ये हवाएं

फैसले फैसलों की वजह थे
इश्क़ कामिल हुआ ही नहीं
बस खुदा से है इतनी शिकायत
क्यूँ तू मेरा हुआ ही नहीं

मेरा मर्ज़ तू है दवा भी
मैं हूँ ये रातें गवाह भी
जिन रास्तों पे खुदा ना
मुझको मिला तू वहां भी
नाम तेरे सफर यह किया पर
हमसफ़र तू हुआ ही नहीं

बस खुदा से है इतनी शिकायत
क्यूँ तू मेरा हुआ ही नहीं

Shikayat Lyrics english

bas khuda se hai itanee shikaayat
kyoon too mera hua hee nahin
kuchh lamhon kee maangee thee mohalat
kyon too mera hua hee nahin
haan main maangoong ijaajat, haan karake bagaavat
too mera hua hee nahin
mainne maangee thee tujhase vah saansen
jinamen bastee hain saansen meree

bas khuda se hai itanee shikaayat
kyoon too mera hua hee nahin

mujhe agar teree yaad aaye
kaise kise ham bataen haan
jee kar bhee kaise jiyoon main
haq mein nahin ye havaen

phaisale phaisalon kee vajah the
ishq kaamil hua hee nahin
bas khuda se hai itanee shikaayat
kyoon too mera hua hee nahin

mera marz too hai dava bhee
main hoon ye raaten gavaah bhee
jin raaston pe khuda na
mujhako mila too vahaan bhee
naam tere saphar yah kiya par
hamasafar too hua hee nahin

bas khuda se hai itanee shikaayat
kyoon too mera hua hee nahin

Also Read: Khulke Jeene Ka Lyrics खुलके जीने का- Dil Bechara Sushant Singh Rajput