Mukammal Na Hui Chahat lyrics Hindi English – Deepa Udit Narayan

Mukammal Na Hui Chahat lyrics

Mukammal Na Hui Chahat lyrics hindi sung by Shaurya Mehta, Deepa Udit Narayan. Mukammal Na Hui Chahat song lyrics written by Rishi Aazad. music label T-Series.

Mukammal Na Hui Chahat lyrics Hindi ( मुकम्मल ना हुई चाहत  )

अगर तुम मेरी होती तो बात कुछ और होती 

मेरी सुबह तुमसे होती मेरी शामे तुमसे ढलती

मेरे हर ख्वाब तुम्हारे मिलने से पुरे हो जाते

ये जो मुज़मे अधूरापन है तुम होते तो ना होता  

 

मुकम्मल ना हुई चाहत 

किसी से क्या शिकायत है

मुकम्मल ना हुई चाहत

किसी से क्या शिकायत है

जुदा करना मोहब्बत की

पुरानी अपनी आदत है

 

जो हम ना मिल सके ये तो सितम था वक्त का कोई

जो हम ना मिल सके ये तो सितम था वक्त का कोई

यू पल भर का यह मिलना भी तू रब की भी यह इनायत है

 

मुकम्मल ना हुई चाहत 

किसी से क्या शिकायत है

 

मेरा अब दिल किसी का है मगर धड़कन तुम्हारी है

हे लिखी नाम पे तेरी मेरी ये सांस सारी है

तू मुज़मे में हु बाकी वो तुम्हारी ही मोहब्बत है

 

मुकम्मल ना हुई चाहत 

किसी से क्या शिकायत है

जो हम ना मिल सके ये तो सितम था वक्त का कोई

यू पल भर का यह मिलना भी तू रब की भी यह इनायत है

मुकम्मल ना हुई चाहत 

किसी से क्या शिकायत है

जो हम ना मिल सके ये तो सितम था वक्त का कोई

यू पल भर का यह मिलना भी तू रब की भी यह इनायत है

 

तुमको अपनी इतनी जिद में कर दिया जुदा

ना मैंने पलट कर देखा ना तुमने भी सुना

 

यु सारी उम्र जीना भी कहां आसान है तुम बिन

मगर जीना पड़ेगा तो मुझको इंतहा तुम बिन

तुम्हारी याद में ना रहना अब मेरी इबादत है

 

मुकम्मल ना हुई चाहत 

किसी से क्या शिकायत है

जो हम ना मिल सके ये तो सितम था वक्त का कोई

यू पल भर का यह मिलना भी तू रब की भी यह इनायत है

 

मुकम्मल ना हुई चाहत 

किसी से क्या शिकायत है

जो हम ना मिल सके ये तो सितम था वक्त का कोई

यू पल भर का यह मिलना भी तू रब की भी यह इनायत है

 

Mukammal Na Hui Chahat lyrics English

agar tum meree hotee to baat kuchh aur hotee

meree subah tumase hotee meree shaame tumase dhalatee

mere har khvaab tumhaare milane se pure ho jaate

ye jo muzame adhooraapan hai tum hote to na hota


mukammal na huee chaahat

kisee se kya shikaayat hai

mukammal na huee chaahat

kisee se kya shikaayat hai

juda karana mohabbat kee

puraanee apanee aadat hai


jo ham na mil sake ye to sitam tha vakt ka koee

jo ham na mil sake ye to sitam tha vakt ka koee

yoo pal bhar ka yah milana bhee too rab kee bhee yah inaayat hai


mukammal na huee chaahat

kisee se kya shikaayat hai


mera ab dil kisee ka hai magar dhadakan tumhaaree hai

he likhee naam pe teree meree ye saans saaree hai

too muzame mein hu baakee vo tumhaaree hee mohabbat hai


mukammal na huee chaahat

kisee se kya shikaayat hai

jo ham na mil sake ye to sitam tha vakt ka koee

yoo pal bhar ka yah milana bhee too rab kee bhee yah inaayat hai

mukammal na huee chaahat

kisee se kya shikaayat hai

jo ham na mil sake ye to sitam tha vakt ka koee

yoo pal bhar ka yah milana bhee too rab kee bhee yah inaayat hai


tumako apanee itanee jid mein kar diya juda

na mainne palat kar dekha na tumane bhee suna


yu saaree umr jeena bhee kahaan aasaan hai tum bin

magar jeena padega to mujhako intaha tum bin

tumhaaree yaad mein na rahana ab meree ibaadat hai


mukammal na huee chaahat

kisee se kya shikaayat hai

jo ham na mil sake ye to sitam tha vakt ka koee

yoo pal bhar ka yah milana bhee too rab kee bhee yah inaayat hai


mukammal na huee chaahat

kisee se kya shikaayat hai

jo ham na mil sake ye to sitam tha vakt ka koee

yoo pal bhar ka yah milana bhee too rab kee bhee yah inaayat hai

Also Read: dheere dheere se lyrics Hindi English – guns of banaras

Leave a comment